क्रिसमस डे का मतलब क्या होता है | Christmas day ka matlab kya hota hai

नमस्कार दोस्तों, क्रिसमस ईसाई धर्म के लोगों का सबसे बड़ा त्यौहार हैं, तो चलिए जानते हैं क्रिसमस कब आता है, क्रिसमस क्यों मनाया जाता है और क्रिसमस डे का मतलब क्या होता है (Christmas day ka matlab kya hota hai) –

क्रिसमस डे का मतलब क्या होता है (Christmas day ka matlab kya hota hai)

क्रिसमस डे का मतलब क्या होता है | Christmas day ka matlab kya hota hai
क्रिसमस डे का मतलब क्या होता है | Christmas day ka matlab kya hota hai

क्रिसमस 25 दिंसबर को आता हैं, हर साल इस दिन पुरे विश्व में बड़े धूमधाम से क्रिसमस मनाया जाता हैं, इस दिन ईशा मसीह का जन्म हुवा था. 

क्रिसमस शब्द “क्राइस्ट मास” से आया हैं, क्राइस्ट मास का छोटा रूप ही क्रिसमस हैं, क्रिस मस चौथी शताब्दी से पहले से मनाया जाता हैं.

क्राइस्ट मास क्रिसमस

क्रिसमस को बड़े पैमाने पर 313 ईस्वी में मनाया जाने लगा, इससे पहले भी क्रिसमस मनाया जाता था.

क्रिसमस के पहले ब्लैक फ्राइडे आता हैं, इस साल ब्लैक फ्राइडे 25 नवंबर को मनाया गया, ब्लैक फ्राइडे और क्रिसमस दोनों ही ईसाई धर्म का सबसे बड़ा त्यौहार हैं.

क्रिसमस क्यों मनाया जाता है | christmas kyo manaya jata hai

क्रिसमस प्रभु ईशा मसीह के जन्मदिन पर मनाया जाता हैं, ईशा मसीह ईसाई धर्म के संस्थापक थे.

ईशा मसीह का जन्म 4 ईसवी पूर्व(4 BC) में बेथलेहम में हुवा था, बेथलेहम इसराइल में यरुशलम से 10 किलोमीटर दक्षिण में स्थित एक फिलिस्तीनी शहर है।

यह भी मान्यता हैं की प्रभु ईशा मसीह की माता मारिया को एक स्वर्ग के देवदूत ने सपने में आकर कहा की आप धन्य हैं जो ईश्वर को जन्म देने वाली हैं और उनकी माता बनने वाली हैं. 

क्रिसमस कैसे मनाया जाता हैं | christmas kaise manaya jata hai

क्रिसमस के दिन लोग एक फर के पेड़ को सजाते हैं, जिसे क्रिसमस ट्री कहा जाता हैं, साथ ही इस दिन लोग अपने सगे-संबंधियों को कार्ड देकर शुभकामनाये देते हैं.

इस दिन लोग वाइन और अच्छे अच्छे पकवान बनाते हैं, इस दिन लोग सांता क्लाज बनते हैं और बच्चो को गिफ्ट बाटते हैं, जिसे हम सांता क्लाज कहते हैं वो संत निकोलस हैं. 

संत निकोलस का जन्म ईशा मसीह के मृत्यु के 280 साल पश्चात हुवा था, संत निकोलस लोगों की मदद करते थे और अपना पूरा जीवन ईशा मसीह को समर्पित कर दिया था.

25 दिसंबर को बड़ा दिन क्यों कहते हैं – 

25 दिसंबर को बड़ा दिन इसीलिए माना जाता हैं, क्योंकि 25 दिसंबर से ही रात छोटा और दिन बड़ा होना शुरू हो जाता हैं.

साथ ही 25 दिसंबर को ही प्रभु ईशा मसीह का जन्म हुवा था, जिसे पुरे विश्व में मनाया जाता हैं, इसीलिए इसे बड़ा दिन कहाँ जाता हैं.

22 दिसंबर को साल का सबसे छोटा दिन होता हैं, लेकिन जैसे ही 23 दिसंबर आता हैं, वैसे ही दिन बड़ा होना शुरू हो जाता हैं.

तो 25 दिसंबर को बड़ा दिन कहने का 2 कारण हैं, पहला 25 दिसंबर से दिन का बड़ा होना शुरू होना, दूसरा प्रभु ईशा मसीह का जन्मदिन और क्रिसमस.

क्रिसमस डे कितनी तारीख को है?

क्रिसमस डे 25 दिसंबर को है, 25 दिसंबर को प्रभु ईशा मसीह का जन्मदिन हुवा था, इस साल क्रिसमस रविवार के दिन हैं, 336 ईशा पूर्व में बड़े पैमाने पर क्रिसमस मनाने की शुरुवात हुई, इसके कुछ ही सालों बाद पोप जुलियस ने अधिकारिक तौर पर प्रभु ईशा मसीह के जन्म को 25 दिसंबर से मनाने ही घोषणा की.

क्रिसमस ट्री कैसे बनाते हैं?

क्रिसमस ट्री बनाने के लिए आपकों एक छोटा फर का पेड़ लगेगा, जिसको बहुत सारी लाइट और दुसरे सजावटी चीजों से सजाया जाता हैं, क्रिसमस ट्री को शंकु के आकार में सजाया जाता हैं.

इसे भी पढ़े –

फ्रेंडशिप डे कितनी तारीख को आता है

दोस्तों जानकारी अच्छी लगी हो तो इस आर्टिकल को शेयर जरुर करे और ऐसे ही त्यौहार, दिवस और जयंती से जुड़ी जानकारियों के लिए aaj ka tyohar पर बने रहें, धन्यवाद दोस्तों.

Leave a Comment