चंद्रयान 3 कब लॉन्च होगा 2023 | Chandrayaan 3 kab Launch hoga 2023

नमस्कार दोस्तों, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संस्था इसरो ने चंद्रयान 3 के लांच की घोषणा कर दी हैं, तो चलिए जानते हैं चंद्रयान 3 कब लॉन्च होगा (Chandrayaan 3 kab Launch hoga) –

चंद्रयान 3 कब लॉन्च होगा | Chandrayaan 3 kab Launch hoga

चंद्रयान 3 कब लॉन्च होगा | Chandrayaan 3 kab Launch hoga
चंद्रयान 3 कब लॉन्च होगा | Chandrayaan 3 kab Launch hoga
लॉन्च तारीख 14 जुलाई 2023
रॉकेट GSLV मार्क 3
जगह सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र
लांच वस्तु
लैंडर, रोवर

चंद्रयान-3 की लांचिंग 14 अगस्त 2023 को होगा, जिसमें लैंडर और रोवर शामिल रहेंगे, चंद्रयान-2 का ऑर्बिटर सही-सलामत हैं और वो चाँद के चक्कर लगा रहा हैं.

चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर को चंद्रयान-3 के लैंडर और रोवर से पहले संपर्क स्थापित किया जाएगा फिर लैंडर और रोवर को चाँद पर उतारा जाएगा. 

चंद्रयान-3 को GSLV मार्क-3 राकेट से चन्द्रमा तक भेजा जाएगा, GSLV मार्क-3 राकेट 4000 किलोग्राम तक भारी सैटेलाइट को लांच करने में सक्षम हैं, GSLV मार्क-3 राकेट इसरो की सबसे उन्नत लांच राकेट हैं. 

चंद्रयान 3 चंद्रमा में कब उतरेगा – 

तारीख  23 अगस्त 2023
लैंडिंग साईट  चंद्रमा का दक्षिणी ध्रुव 
लैंडिंग वस्तु  लैंडर, रोवर

चंद्रयान 3 चंद्रमा में 23 अगस्त को लैंड करेगा, जिसमें पहले लैंडर चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव में सॉफ्ट लैंडिंग करेंगा, उसके बाद उसके अंदर से रोवर निकलेगा और चंद्रमा की सतह पर चलेगा.

इस लैंडर और रोवर कुल 14 दिनों तक चंद्रमा की सतह पर रहेंगे, इस दौरान वे चाँद की सतह का परिक्षण करेंगे, साथ ही चाँद की सतह में 10 सेंटीमीटर छेद करके उसके सैम्पल का परिक्षण करेगा और उसका डाटा इसरो को भेजेगा.

चंद्रयान-2 कब लांच हुआ था | chandrayaan-2 kab launch huva tha

लांच तारीख 22 जुलाई 2019
ऑर्बिटर 2379 किलो
लैंडर(विक्रम) 1471 किलो
रोवर(प्रज्ञान) 27 किलो

चंद्रयान-2 22 जुलाई 2019 को लांच हुवा था, चंद्रयान-2 में ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर को भेजा गया था, जिसमें सिर्फ ऑर्बिटर ही सफल रहा, बाकि लैंडर और रोवर चाँद की सतह से 300 मीटर पहले अपना संतुलन खो दिए और नष्ट हो गए थे. 

ऑर्बिटर सुरक्षित रहने के कारण अब इसरो इस ऑर्बिटर का उपयोग चंद्रयान-3 के लिए करेगी, चंद्रयान-2 के लैंडर का नाम “विक्रम” था और रोवर का नाम “प्रज्ञान” था. 

चंद्रयान-2 का वजन कितना था

चंद्रयान-2 का वजन 3877 किलोग्राम था, जिसमें ऑर्बिटर का वजन 2379 किलोग्राम, लैंडर का वजन 1471 किलोग्राम और रोवर का वजन 27 किलोग्राम था.

कौन सा लांच वाहन मिशन चंद्रयान-2 में उपयोग किया गया था

  • GSLV मार्क-3 राकेट

चंद्रयान-2 को लांच करने के लिए GSLV मार्क-3 राकेट का उपयोग किया गया था, GSLV मार्क-3 राकेट के वजन उठाने की क्षमता 4000 किलोग्राम का हैं, वहीँ चंद्रयान-2 का वजन 3877 किलोग्राम था. 

चंद्रयान-1 कब लांच किया गया | चंद्रयान फर्स्ट कब लांच किया गया

तारीख 22 अक्टूबर 2008
स्थान सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र
राकेट PSLV XL C-11

चंद्रयान-1 को 22 अक्टूबर 2008 को लांच किया गया था, यह एक सैटेलाईट था, जिसे चन्द्रमा की कक्षा में भेजा गया, चंद्रयान-1 में एक 105 किलो के सैटेलाईट को सफलता पूर्व चन्द्रमा की कक्षा में भेजा गया. 

चंद्रयान-1 को PSLV XL C-11 राकेट की मदद से लांच किया गया था, इसे सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से लांच किया गया था, यह सैटेलाईट 10 महीने और 6 दिन का डाटा भेजता रहा, चंद्रयान-1 ने ही चन्द्रमा में पानी की खोज की थी.

इसे भी पढ़े –

आज कौन सा दिवस हैं

आज कौन सी जयंती हैं

दोस्तों अगर जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरुर करें और रोजाना कौन सा त्यौहार हैं जानने के लिए aajkatyohar में बने रहें, धन्यवाद दोस्तों.

1 thought on “चंद्रयान 3 कब लॉन्च होगा 2023 | Chandrayaan 3 kab Launch hoga 2023”

Leave a Comment