भारत के सभी राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची | Bharat ke sabhi rashtriya pratik

नमस्कार दोस्तों, किसी भी राष्ट्र के राष्ट्रीय प्रतिक उस देश या राष्ट्र की अपनी सांस्कृतिक विशिष्टता को दर्शाती हैं किसी भी राष्ट्र के राष्ट्रिय प्रतिक उस देश की संस्कृति और विरासत का प्रतिनिधित्व करती हैं भारत देश के अबतक कुल 18 राष्ट्रीय प्रतिक हैं चलिए जानते हैं भारत के सभी राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची (Bharat ke sabhi rashtriya pratik) –

भारत के सभी राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची (Bharat ke sabhi rashtriya pratik) – 

Bharat ke sabhi rashtriya pratik

टाइटल राष्ट्रीय प्रतिक
राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा
राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम्
राष्ट्रीय गान जन-गन-मन
राष्ट्रीय चिन्ह अशोक चक्र
राष्ट्रीय मुद्रा रुपया
राष्ट्रीय भाषा हिंदी
राष्ट्रीय पशु बाघ
राष्ट्रीय विरासत पशु हाथी
राष्ट्रीय पक्षी मोर
राष्ट्रीय फल आम
राष्ट्रीय फूल कमल
राष्ट्रीय वृक्ष बरगद
राष्ट्रीय खेल हॉकी
राष्ट्रीय जलीय जीव गंगा डाल्फिन
राष्ट्रीय नदी गंगा
राष्ट्रीय कैलेण्डर शक संवत
राष्ट्रीय सब्जी कद्दू
राष्ट्रीय भोजन खिचड़ी
राष्ट्रीय मिठाई जलेबी

1. भारत का राष्ट्रीय ध्वज – 

Bharat ke sabhi rashtriya pratik

भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा हैं, भारतीय ध्वज तिरंगा में कुल चार रंगों का प्रयोग हुआ हैं जिसमे केसरिया, सफ़ेद, हरा और नीला रंग शामिल हैं.

भारतीय ध्वज तिरंगा में समान अनुपात में तीन क्षैतिज पट्टियाँ हैं ये क्षैतिज पट्टियाँ 3:2 के अनुपात में हैं जिसमे सबसे उप्पर की पट्टी केसरिया रंग का बीच की पट्टी सफ़ेद रंग का और नीचे का तीसरा पट्टी हरा रंग का हैं.

इन तीनो रंगों का एक विशेष अर्थ हैं जिसमे केसरिया रंग देश की ताकत और साहस को दर्शाती हैं, सफ़ेद रंग शांति और सत्य का प्रतिक को दर्शाती हैं वही हरा पट्टी देश की मिटटी की उर्वरता, वृद्धि और भूमि की पवित्रता को दर्शाती हैं.

राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा के बीच में सफ़े

द पट्टी में अशोक चक्र बना हुआ हैं जो नीला रंग हैं, यह चक्र या पहिया सम्राट अशोक के बहुत से शिलालेखो में मिलता हैं, अशोक चक्र धर्मं का प्रतिक हैं इसे कर्तव्य का पहिया भी कहा जाता हैं.

अशोक चक्र का यह नीला रंग आकाश, महासागर और सार्वभौमिक सत्य को दर्शाता हैं.

अशोक चक्र के बीच में 24 तीलियाँ हैं जो मनुष्य के 24 गुणों को दर्शाती हैं.

अशोक चक्र को भारतीय राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा में देश की आजादी के बाद शामिल किया गया था.

तिरंगे झंडे का निर्माण साल 1921 में पिंगली वेंकैया ने किया था.

2. भारत का राष्ट्रीय गीत – 

भारत का राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम् हैं जो बंकिम चन्द्र चटोपाध्याय ने अपने बंगाली उपान्यास आनंदमठ में संस्कृत भाषा में अपनी कविता में लिखा था बाद इसे भारत के राष्ट्रीय गीत के रूप में शामिल किया गया.

वन्दे मातरम गीत स्वतंत्रता के आन्दोलन के दौरान भारत के प्रेरणा का स्रोत था, बंकिम चन्द्र ने वन्दे मातरम् गीत साल 1871 में लिखा था वही इसे भारत के राष्ट्रीय गीत के रूप में 24 जनवरी 1850 को अपनाया गया था.

वन्दे मातरम् गीत के पहली पंक्ति मातरम् शब्द का अर्थ मातृभूमि या बंगमाता(माँ बंगाल) और भारत माता हैं जो मूल रूप में संस्कृत और बंगाली भाषा में रचित हैं.

वन्दे मातरम् का हिंदी में अर्थ माता की वंदना करता हूँ हैं, राष्ट्र गीत वनडे मातरम को 65 सेकण्ड में गाया जाता हैं.

3. भारत का राष्ट्रगान –

भारत का राष्ट्रगान जन-गन-मन हैं, जन-गन-मन को 24 जनवरी 1950 को भारत का राष्ट्रगान घोषित किया गया था इसके रचयिता रविंद्रनाथ टैगोर हैं रविंद्रनाथ ने जन गन मन की रचना संस्कृत भाषा में साल 1911 में की थी.

भारत के राष्ट्रगान गान को 52 सेकेण्ड में गाया जाता हैं.

4. भारत का राष्ट्रीय चिन्ह – 

Bharat ke sabhi rashtriya pratik

भारत का राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तम्भ हैं, अशोक स्तम्भ को सम्राट अशोक ने सारनाथ में बनवाया था इसके शीर्ष भाग को सिंह चतुर्मुख कहते हैं इसमें चार भारतीय सिंह पीठ से पीठ सटाये खड़े हैं.

अशोक स्तम्भ को भारत सरकार ने संवैधानिक रूप से 26 जनवरी 1950 को राष्ट्रीय चिन्ह के रूप में अपनाया था, अशोक स्तम्भ को शासन, संस्कृति और शांति का सबसे बड़ा प्रतिक माना जाता हैं.

5. भारत का राष्ट्रीय मुद्रा – 

Bharat ke sabhi rashtriya pratik

भारतीय रूपया भारत का राष्ट्रीय मुद्रा हैं, इसका बाज़ार नियामक और जारीकर्ता भारतीय रिजर्व बैंक हैं.

भारतीय रूपया को डी. उदय कुमार द्वारा डिजाइन किया गया था, यह डिजाइन भारत सरकार द्वारा 15 जुलाई 2010 को लोगो के बीच सार्वजानिक किया गया था.

भारतीय राष्ट्रीय मुद्रा का प्रतिक हैं, भारतीय रूपया प्रतिक पैसे के लेनदेन और आर्थिक ताकत के लिए भारत की अंतराष्ट्रीय पहचान को दर्शाता हैं, भारतीय रूपया का चिन्ह भारतीय लोकाचार का एक रूपक हैं.

अंग्रेजी भाषा में भारतीय रूपया का कोड INR हैं.

रूपया शब्द का पहली बार प्रयोग मुग़ल शासक शेरशाह सूरी ने भारत में अपने शासनकाल 1540 से 1545 के दौरान किया था.

6. भारत का राष्ट्रीय भाषा – 

भारतीय संविधान में भारत का कोई राष्ट्रीय भाषा नही हैं लेकिन सरकारी दफ्तरों में कामकाज के लिए एक भाषाई आधार बनाने के लिए हिंदी भाषा को राजभाषा का दर्ज़ा दिया गया हैं.

अनेक संस्कृतियों का अस्तित्व अनेक पहचानो के अस्तित्व का मांग करता हैं जिनमे से प्रत्येक की अपनी भाषाई परम्परा होती हैं, भारतीय जनसँख्या के अन्तर्निहित होने के कारण भारत की कोई राष्ट्र भाषा नही हैं.

भारतीय संविधान में हिंदी भाषा को राजभाषा के रूप में दर्ज़ा 14 सितम्बर 1949 को दिया था इसी कारण भारत वर्ष में प्रत्येक वर्ष 14 सितम्बर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता हैं.

7. भारत का राष्ट्रीय पशु – 

राष्ट्रीय पशु बाघ हैं

भारत का राष्ट्रीय पशु रॉयल बंगाल टाइगर बाघ हैं जिसकी सबसे ज्यादा संख्या भारत में ही हैं, बंगाल टाइगर का वैज्ञानिक नाम पैन्थेरा टाईग्रिस हैं.

बाघ को 18 नवम्बर 1972 में भारतीय राष्ट्रीय पशु का दर्ज़ा दिया गया था, बाघ की मोटी पीली लोमचर्म का कोट होता हैं जिसपर गहरी धारदार पट्टी होती हैं.

रॉयल बंगाल टाईगर बाघ भारत में मुख्य रूप से पश्चिम बंगाल राज्य में स्थित सुंदरवन मैन्ग्रोव क्षेत्र में पाया जाता हैं यह इसका प्रमुख आवास स्थल हैं.

8. भारत का राष्ट्रीय विरासत पशु – 

भारत का राष्ट्रीय विरासत पशु हाथी हैं, हाथी को 12 अगस्त 2010 को भारत का राष्ट्रीय विरासत या धरोहर पशु घोषित किया गया था तब से प्रत्येक वर्ष 12 अगस्त को भारत में हाथी दिवस के रूप में मनाया जाता हैं.

हाथी को भारत का राष्ट्रीय विरासत पशु घोषित करने का प्रमुख कारण हाथियों का संरक्षण हैं.

9. भारत का राष्ट्रीय पक्षी – 

राष्ट्रीय पक्षी

भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर हैं, भारत सरकार द्वारा मोर को भारत का राष्ट्रीय पक्षी 1 फ़रवरी 1963 को घोषित किया गया था.

सम्पूर्ण भारत में मोर पाया जाता हैं, भारतीय सांस्कृतिक इतिहास में मोर का एक विशेष महत्व रहा हैं भगवान कृष्ण अपने सिर पर मोर पंख धारण किया करते थे.

10. भारत का राष्ट्रीय फल – 

भारत का राष्ट्रीय फल आम

भारत का राष्ट्रीय फल आम हैं, भारत सरकार द्वारा आम को भारत के राष्ट्रीय फल के रूप में साल 1950 में अपनाया गया था, आम को भारत के सभी फलो का राजा कहा जाता हैं.

भारतीय आम का साइंटिफिक(वैज्ञानिक) नाम मैगिफेरा इंडिका हैं, भारत सहित विश्व भर में आम की कई प्रजातियाँ पाई जाती हैं. 

11. भारत का राष्ट्रीय फूल – 

भारत का राष्ट्रीय फूल कमल हैं, कमल को एक पवित्र फूल माना जाता हैं प्राचीन काल से ही कमल फूल का भारतीय कला और पौराणिक कथाओ में एक अद्वितीय स्थान रहा हैं.

कमल फूल को भारत का राष्ट्रीय फूल 26 जनवरी 1950 को घोषित किया गया था, कमल देश की शांति और सुन्दरता का प्रतिक हैं. 

कमल का वैज्ञानिक नाम नेलुम्बो न्यूसीफेरा गर्टन हैं, अंग्रेजी में कमल फूल को लोटस कहा जाता हैं.

12. भारत का राष्ट्रीय वृक्ष – 

भारत का राष्ट्रीय वृक्ष बरगद हैं, बरगद का वैज्ञानिक नाम फाइकस बैंगालैंसिस हैं, बरगद को अंग्रेजी में बनयान ट्री कहा जाता हैं.

बरगद एक विशाल पेड़ हैं जिसकी जड़े शाखाए बहुत बड़ी लम्बी और जड़े बहुत गहरी और मजबूत होती हैं, बरगद की जड़ो से अधिक तने और शाखाए बनती हैं बरगद की इसी इसी विशेषता और लम्बे जीवन के कारण इसे अनश्वर कहा जाता हैं.

साल 1950 में भारत सरकार द्वारा बरगद को भारत का राष्ट्रीय वृक्ष घोषित किया गया था, बरगद को हिन्दू और बौद्ध धर्म में पवित्र वृक्ष माना जाता हैं हिन्दू धर्म में वट को तीन प्रमुख देवताओ का प्रतिक माना जाता हैं.

बरगद की जड़ो में भगवान ब्रम्हा का मध्य में भगवान विष्णु और शाखाओ में भगवान शिव का वास होना माना जाता हैं, इसलिए बरगद वृक्ष को मंदिर के आसपास लगाया जाता हैं.

13. भारत का राष्ट्रीय खेल – 

भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी को माना गया हैं. लेकिन कानूनन हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल नही हैं.

इस विषय पर भारत सरकार का कहना हैं कि उनका उद्देश्य किसी एक खेल को बढावा देना नही हैं बल्कि सभी लोकप्रिय खेल को बढावा देना और उन खेलो को खेलने वाले खिलाडियों को प्रोत्साहित करना हैं.

राष्ट्रीय खेल किसी राष्ट्र की संस्कृति के अन्तर्निहित खेल को माना जाता हैं कुछ देशो में वास्तव में किसी खेल को राष्ट्रीय खेल मैन लिया जाता हैं लेकिन वह कानूनन ऐसा नही होते जैसे कि हॉकी को भारत का राष्ट्रीय खेल मान लिया गया हैं लेकिन कानूनन हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल नही हैं.

14. भारत का राष्ट्रीय जलीय जीव – 

भारत का राष्ट्रीय जलीय जीव गंगा डाल्फिन हैं, 4 अक्टूबर 2009 को गंगा डाल्फिन को भारत का राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित किया गया था.

गंगा डाल्फिन को भारत का राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित करने का मुख्य उद्देश्य इस जलीय जीव की रक्षा करना हैं, समय के साथ गंगा डाल्फिन की संख्या भारत में घटती जा रही थी जिसके कारण भारत सरकार द्वारा इसे राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित किया गया जिससे इसका बचाव किया जा सके.

भारत में गंगा डाल्फिन का रहवास क्षेत्र केवल गंगा नदी हैं, चूँकि गंगा डाल्फिन केवल शुद्ध और मीठे जल में ही रहती हैं इसलिए यह गंगा नदी की पवित्रता का प्रतिनिधित्व करती हैं.

15. भारत का राष्ट्रीय राष्ट्रीय नदी – 

भारत का राष्ट्रीय नदी गंगा नदी हैं, भारत सरकार द्वारा 4 नवम्बर 2008 को गंगा को भारत का राष्ट्रीय नदी घोषित किया था, तब से लेकर अबतक गंगा भारत के राष्ट्रीय प्रतिको का हिस्सा हैं.

गंगा को भारत का राष्ट्रीय नदी घोषित करने का मुख्य उद्देश्य गंगा कार्य योजना (जीएपी) के उद्देश्यों को प्राप्त करना हैं.

गंगा नदी भारत का सबसे पवित्र और सबसे लम्बी नदी हैं यह नदी भारतीय आध्यात्म से जुड़ा हैं, भारत में गंगा नदी को माँ का दर्जा दिया जाता हैं.

16. भारत का राष्ट्रीय कैलेंडर – 

भारत सरकार ने साल 22 मार्च 1957 में शक संवत को भारत का राष्ट्रीय कैलेण्डर या राष्ट्रीय पंचांग घोषित किया हैं, राष्टीय कैलेण्डर शक संवत पर आधारित हैं जिसे ग्रेगोरियन कैलेण्डर के साथ लागू किया गया था.

शक संवत ग्रेगोरियन कैलेण्डर से आमतौर पर 78 वर्ष पीछे हैं, शक संवत की स्थापना सर्वप्रथम शातवाहन राजवंश के राजा शालिवानहन ने की थी.

शक संवत में कुल 12 महीने और 365 दिन होते हैं, शक संवत का पहला महिना चैत्र हैं जिसकी शुरुवात प्रतिवर्ष 22 मार्च से होता हैं लिप वर्ष आने पर यह 21 मार्च से मेल खाता हैं.

17. भारत का राष्ट्रीय सब्जी – 

भारत का राष्ट्रीय सब्जी कद्दू हैं, कद्दू को भारत के अलग अलग क्षेत्रो में अलग अलग नाम से जाना जाता हैं जैसे कुम्हड़ा, कोडू और कोहड़, अंग्रेजी में कद्दू को पम्पकीन कहा जाता हैं.

कद्दू कई सारे पोषक तत्वों से भरपूर रहता हैं, यह पीले, हरे या नारंगी रंग के होते हैं, कद्दू का आकार लगभग गोल होता हैं इसके मोटे खोल के अन्दर गुदा और बीज होता हैं.

18. भारत का राष्ट्रीय भोजन – 

भारत का राष्ट्रीय भोजन खिचड़ी हैं, भारत में लगभग सभी राज्यों के हर वर्ग के लोगो द्वारा खिचड़ी का सेवन किया जाता हैं इसीकारण खिचड़ी को भारत का राष्ट्रीय भोजन घोषित किया गया हैं.

खिचड़ी को भारत का राष्ट्रीय भोजन फूड डे के दिन 4 नवम्बर 2017 को घोषित किया गया था.

19. भारत का राष्ट्रीय मिठाई – 

भारत का राष्ट्रीय मिठाई जलेबी हैं, साल 1950 के बाद जलेबी को भारत का राष्ट्रीय मिठाई घोषित किया गया था.

जलेबी शब्द अरेबिक शब्द जबालिया और फारसी शब्द जलिबिया से लिया गया हैं, इसका उल्लेख भारतीय मध्यकालीन इतिहास की पुस्तक किताब-अल-तबीक में मिलता हैं.

सवाल-जवाब (FAQ) –

राष्ट्रगीत के रचयिता कौन हैं?

भारत के राष्ट्रगीत वन्दे मातरम् हैं जिसके रचयिता बंकिम चन्द्र चटोपाध्याय हैं, बंकिम चन्द्र चटोपाध्याय ने राष्ट्रगीत के रचना साल 1871 में किया था उस समय उन्होंने राष्ट्रगीत को संस्कृत भाषा में लिखा था जिसका समय समय पर अलग अलग भाषाओ में अनुवाद किया गया, वन्दे मातरम् को भारत का राष्ट्रगान के रूप में 24 जनवरी 1950 को अपनाया गया.

राष्ट्रगान को कितने समय में गाया जाता हैं?

भारत का राष्ट्रगान जन-गन-मन हैं जिसे 52 सेकेण्ड के अन्दर गाया जाता हैं, राष्ट्रगान के रचयिता रविंद्रनाथ टैगोर हैं रविंद्रनाथ ने भारत के राष्ट्रगान की रचना साल 1911 में संस्कृत भाषा में की थी वही 24 जनवरी 1950 को जन-गन-मन को भारत का राष्ट्रगान घोषित किया गया था

इसे भी पढ़े – 

भारत के राज्यों के प्रमुख त्यौहार

हिन्दू त्यौहार लिस्ट

भारत के सभी मुख्यमंत्री के नाम 2023

भारत के सभी मंत्रियों के नाम 2023

भारत के 15 प्रधानमंत्री कौन है(1947-2023)

भारत के राष्ट्रपतियों की सूची और उनका कार्यकाल 1950-2023

दोस्तों, जानकारी अच्छी लगी हो तो बाए तरफ के बेलआइकॉन को दबाकर subscribe जरुर करें, धन्यवाद दोस्तों.

Leave a Comment