आज कौन सी जयंती हैं 2023 | aaj kaun si jayanti hai | आज किस महापुरुष का जयंती है

नमस्कार दोस्तों, सालभर में हम बहुत सारे जयंती मनाते हैं, तो चलिए जानते हैं आज कौन सी जयंती हैं (aaj kaun si jayanti hai) – 

आज कौन सी जयंती हैं | aaj kaun si jayanti hai | आज किस महापुरुष  की जयंती है

  • महात्मा गाँधी – 2 अक्टूबर 1869
  • लाल बहादुर शास्त्री – 2 अक्टूबर 1904

महात्मा गाँधी और लाल बहादुर शास्त्री जी की जयंती हैं, महात्मा गाँधी भारत के स्वतंत्रता सेनानी हैं, वहीँ लाल बहादुर शास्त्री जी एक स्वतंत्रता सेनानी और भारत के दुसरे प्रधानमंत्री थे.

लाल बहादुर शास्त्री जी साल 1964 से 1966 तक भारत के प्रधानमंत्री रहें, उन्होंने जय जवान जय किसान का नारा दिया था.

इसे भी पढ़े –

आज कौन सा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दिवस है

आज कौन सा त्यौहार हैं

100 महापुरुषों के सर्वश्रेष्ठ सुविचार

दोस्तों जानकारी अच्छी लगी हो तो इस आर्टिकल को शेयर जरुर करे और ऐसे ही जयंती, त्यौहार और दिवस की जानकारी के लिए aaj ka tyohar पर बने रहें, धन्यवाद दोस्तों.

पुरानी जयंती –

  • 17 सितंबर –
  • भगवान विश्वकर्मा जयंती

17 सितंबर रविवार के दिन भगवान विश्वकर्मा जयंती हैं, भारत यह त्यौहार बड़े ही धूम-धाम से मनाया जाता हैं.

इस दिन भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति रखी जाती हैं और पूजा की जाती हैं.

भगवान विश्वकर्मा देवताओं के शिल्पिकार थे, इस दिन सभी तरह के मशीन और उपकरण की पूजा की जाती हैं. 

  • 4 जून –
  • संत कबीरदास जयंती

4 जून को संत कबीरदास जयंती हैं.

कबीर साहब का जन्म जन्म संवत्‌ 1455 की ज्येष्ठ शुक्ल पूर्णिमा को हुआ था।

कबीरदास भक्तिकालीन युग के ज्ञानाश्रयी निर्गुण शाखा की काव्यधारा के मुख्य प्रवर्तक थे.

  • 5 मई –
  • बुद्ध पूर्णिमा दिवस

5 मई को बुद्ध पूर्णिमा दिवस हैं, इसे बैसाख पूर्णिमा भी कहते हैं.

इसी दिन भगवान बुद्ध का जन्म हुवा था, वहीँ इसी दिन भगवान बुद्ध को ज्ञान की प्राप्ति हुई थी.

वहीँ इस दिन 80 वर्ष की उम्र में कुशीनगर में उनका निधन हुवा था, जिसे महाप्रयाग भी कहते हैं.

  • 22 अप्रैल –
  • भगवान परशुराम जयंती

22 अप्रैल को भगवान परशुराम जयंती है, भगवान परशुराम भगवान विष्णु के छठवें अवतार थे.

भगवान परशुराम जन्म वैशाख मास के शुक्ल पक्ष की अक्षय तृतीया के दिन हुवा था.

इस दिन को पुरे भारत में त्यौहार की तरह मनाया जाता हैं.

भगवान परशुराम ने हैहय वंश के क्षत्रियों का विनाश किया था, हैहय वंश के राजा सहस्त्रार्जुन लगातार ऋषियों और ब्राह्मणों पर अत्याचार कर रहें थे.

  • 14 अप्रैल –
  • डॉ भीमराव अम्बेडकर जयंती

14 अप्रैल को डॉ भीमराव अम्बेडकर जयंती है, डॉ भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को हुवा था.

वे हमारें देश के संविधान निर्माता थे, डॉ भीमराव अम्बेडकर पुरे भारत के हर राज्य जाति संप्रदाय को ध्यान में रखकर संविधान का निर्माण किया था.

वहीँ भारत का संविधान विश्व का सबसे बड़ा संविधान हैं.

  • 6 अप्रैल –
  • हनुमान जयंती

6 अप्रैल को भगवान हनुमान जयंती है, भगवान हनुमान का जन्म चैत्र मॉस की पूर्णिमा के दिन हुवा था.

इस दिवस पुरे भारत में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता हैं, इस दिन जगह जगह प्रसाद का वितरण किया जाता हैं.

  • महावीर जयंती

कल 3 अप्रैल को महावीर जयंती हैं, यह दिन जैन धर्म में बहुत बड़े त्यौहार का दिन हैं.

भगवान महावीर का जन्म चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी के दिन हुवा था, जो इस साल 2023 में 3 अप्रैल को महावीर जयंती को मनाया जाएगा.

  • 3 अप्रैल –
  • सैम मानेकशॉ जयंती

3 अप्रैल को फिल्ड मार्शल सैम मानेकशॉ जयंती हैं, सैम मानेकशॉ भारत के महान जनरल थे.

सैम मानेकशॉ की वजह से भारत ने साल 1971 में भारत ने पाकिस्तान को हराया था और 93000 पाकिस्तानी सैनिकों ने आत्मसमर्पण किया था.

  • 23 मार्च –
  • डॉ. राममनोहर लोहिया

23 मार्च को डॉ. राममनोहर लोहिया जयंती हैं, डॉ. राममनोहर लोहिया एक स्वतंत्रता सेनानी थे.

डॉ. राममनोहर लोहिया का जन्म 23 मार्च 1910 को उत्तरप्रदेश में हुआ था.

  • 19 फरवरी –
  • महाराज छत्रपति शिवाजी जयंती

आज 19 फरवरी को महाराज छत्रपति शिवाजी जयंती हैं, महाराज छत्रपति शिवाजी का जन्म 19 फरवरी 1630 को हुआ था, मराठा साम्राज्य की नीव रखी थी. 

इस साल शिवाजी महाराज की 393वीं जयंती मनाई जा रही है, छत्रपति शिवाजी महाराज की जयंती को पुरे भारत में बहुत धूमधाम से मनाया जाता है.

  • 5 फरवरी
  • संत रविदास जयंती

आज 5 फरवरी को संत रविदास जयंती हैं, संत रविदास का जन्म माघ पूर्णिमा में हुवा था, संत रविदास को रैदास जी के नाम से भी जाना जाता है.

संत रविदास के कई विचार आज बहुत ज्यादा प्रचलित हैं, जैसे –“मन चंगा तो कठौती में गंगा”.

  • 3 फरवरी –
  • भगवान विश्वकर्मा जयंती 

भगवान विश्वकर्मा जयंती हैं, भारत में यह त्यौहार की तरह मनाया जाता हैं.

इस दिन भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति रखकर पूजा की जाती हैं.

भगवान विश्वकर्मा देवताओं के शिल्पिकार थे, इस दिन सभी तरह के मशीन और उपकरण की पूजा की जाती हैं. 

  • 23 जनवरी –
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस जन्मदिन

23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस जी का जन्मदिन हैं, उसने जन्मदिन पर ही पराक्रम दिवस मनाया जाता हैं.

नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 में कटक में हुवा था.

भारत को आजाद कराने के लिए उन्होंने बहुत बड़ा कदम उठाया था, उन्होंने साल 1942 में आजाद हिन्द फ़ौज का गठन किया था, जिसके लिए उन्हें हमेशा याद किया जाता.

  • 29 दिसंबर – 

29 दिसंबर को गुरु गोविंद सिंह जयंती हैं, वे सिक्ख धर्म के 10वें गुरु थे.

गुरु गोविंद सिंह का जन्म 22 दिसंबर 1666 को हुवा था.

वहीँ हिंदी कैलेंडर के अनुसार पौष माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी यानी कि 29 दिसंबर 2022 को गुरु गोविंद सिंह जयंती मनाई जाएगी.

गुरु गोबिंद सिंह जी ने ही 1699 में खालसा पंथ की स्थापना की थी.

ये दिन सिख समुदाय के लिए त्यौहार की तरह है.

  • 28 नवंबर
  • गुरु तेग बहादुर शहीद दिवस

आज 28 नवम्‍बर को गुरु तेग बहादुर शहीद दिवस हैं, वे सिक्खों के नौवें गुरु थे.

आज पुरे भारत में गुरु तेग बहादुर शहीदी दिवस मनाया जा रहा हैं.

उनका जन्म 1 अप्रैल 1621 में अमृतसर में हुवा था, वहीँ वे 24 नवंबर 1675 को शहीद हुए थे.

इस दिन को सिक्ख धर्म में एक त्यौहार की तरह मनाया जाता हैं.

साल 1675 में क्रूर शासक औरंगजेब ने धर्म परिवर्तन न करने पर गुरु तेग बहादुर जी की हत्या करवा दी थी.

सिर्फ 14 वर्ष की आयु में अपने पिता के साथ मुगलों के हमले के खिलाफ हुए युद्ध में उन्होंने अपनी वीरता दिखाई थी।

इस वीरता से प्रभावित होकर उनके पिता ने उनका नाम तेग बहादुर यानी तलवार के धनी रख दिया।

  • 15 नवंबर –
  • बिरसा मुंडा जयंती

15 नवम्‍बर को बिरसा मुंडा जयंती हैं, बिरसा मुंडा का जन्म 15 नवंबर 1875 को झारखंड में हुवा था.

 बिरसा मुंडा एक आदिवासी स्वतंत्रता सेनानी थे, उन्हें जनजातीय लोग अपना भगवान भी मानते हैं.

  • 14 नवम्‍बर – पंडित जवाहरलाल नेहरु जयंती

14 नवम्‍बर को पंडित जवाहरलाल नेहरु जयंती हैं, इनका जन्म 14 नवम्‍बर 1889 में हुवा था.

जवाहरलाल नेहरु देश के पहले प्रधानमंत्री थे, उनके जन्मदिन पर आज बालदिवस मनाया जाता हैं.

  • 8 नवंबर – गुरु नानक जयंती

कल 8 नवंबर को गुरु नानक जयंती हैं, यह त्यौहार सिक्ख धर्म का प्रमुख त्यौहार हैं, इसे प्रकाश उत्सव भी कहते हैं.

इस दिन सिक्ख धर्म के महागुरु गुरु नानक का जन्मदिन मनाया जाता हैं. 

गुरु नानक देव जी का जन्म साल 1469 में कार्तिक पूर्णिमा को पाकिस्तान के पंजाब में स्थित श्री ननकाना साहिब में हुआ था।

गुरु नानक देव जी के पिता का नाम कल्यांचंद था और माता का नाम तृप्ता था.

  • 31 अक्टूबर – सरदार वल्लभभाई पटेल जयंती

31 अक्टूबर को भारत के पहले गृहमंत्री और लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती हैं.

सरदार वल्लभभाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को गुजरात में हुवा था.

सरदार वल्लभभाई पटेल ने 600 से ज्यादा देशी रियासतों का भारत में विलय किया और पुरे भारत को एक किया.

उनके जन्मदिन पर हर साल राष्ट्रीय एकता दिवस मनाया जाता हैं. 

  • 9 अक्टूबर – वाल्मीकि जयंती

आज 9 अक्टूबर को वाल्मीकि जयंती हैं, महर्षि वाल्मीकि ने भगवान राम के जीवन के ऊपर एक महत्वपूर्ण ग्रंथ रामायण की रचना की थी, रामायण हिन्दू धर्म का बहुत ही महत्वपूर्ण धर्मग्रंथ हैं.

वाल्मीकि जयंती आश्विन महीने की पूर्णिमा के दिन मनाई जाती हैं, पुरानी कथावों के अनुसार वाल्मीकि का जन्म महर्षि कश्यप और देवी अदिति के 9वें पुत्र वरुण और उनकी पत्नी चारशिनी से हुआ था।

रामायण में भगवान राम के जीवन का चित्रण किया गया हैं, साथ ही जीवन के सत्य और बहुत सारे उपदेशों के बारे में बताया गया हैं.

  • 26 सितंबर –
  • ईश्वरचंद विद्यासागर जयंती

26 सितंबर को ईश्वरचंद विद्यासागर की जयंती हैं,  ईश्वरचंद विद्यासागर का जन्म 26 सितंबर 1820 को पश्चिम बंगाल में हुवा था.

ईश्वरचंद विद्यासागर एक प्रसिद्ध समाज सुधारक, शिक्षा शास्त्री व स्वतंत्रता सेनानी थे.

आज 26 सितंबर को शहीद भगत सिंह जयंती हैं, भगत सिंह भारत के वीर सपूत और महान क्रांतिकारी थे.

भगत सिंह का जन्म 28 सितंबर 1907 को बंगा, पंजाब में हुवा था.

  • 5 सितंबर –
  • डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जयंती 

आज देश के महान शिक्षक डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी की जयंती हैं, उनका जन्म 5 सितंबर 1888 को थिरुटटनी, तमिलनाडु में हुवा था.

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन साल 1962 से 1967 तक देश के दुसरे राष्ट्रपति थे, साल 1954 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक महान शिक्षक थे, उन्हीं की जयंती में भारत में राष्ट्रीय शिक्षक दिवस मनाया जाता हैं. 

  • 31 जुलाई –
  • मुंशी प्रेमचंद जयंती 

महान उपन्यासकार मुंशी प्रेमचंद जी की जयंती हैं, मुंशी प्रेमचंद का जन्म 31 जुलाई 1880 में लम्ही वाराणसी में हुवा था.

मुंशी प्रेमचंद जी ने सेवासदन, प्रेमाश्रम, रंगभूमि, निर्मला, गबन, कर्मभूमि, गोदान जैसी बेहतरीन उपन्यास और कफन, पूस की रात, पंच परमेश्वर, बड़े घर की बेटी, बूढ़ी काकी, दो बैलों की कथा जैसी बेहतरीन कहानियां लिखी थी.

उनके कालजई उपन्यास और कहानियों ने उन्हें अमर बना दिया.

  • 23 जुलाई –
  • आजाद चंद्रशेखर जयंती 
  • लोकमान्य तिलक जयंती

2 महान पुरुष आजाद चंद्रशेखर और लोकमान्य तिलक जी की जयंती हैं, दोनों देश के महान स्वतंत्रता सेनानी थे.

आजाद चंद्रशेखर का जन्म 23 जुलाई 1906 में मध्यप्रदेश में हुवा था, वहीँ लोकमान्य तिलक जी का जन्म 23 जुलाई 1856 में रत्नागिरी महाराष्ट्र में हुवा था. 

दोनों ने भारत की आजादी के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया था, दोनों के इस कुर्बानी के कारण वे इतिहास में अमर हो गए. 

  • 13 जुलाई –
  • महर्षि वेदव्यास जयंती

महान गुरु महर्षि वेदव्यास जी की जयंती हैं, महर्षि वेदव्यास का जन्म आज आषाढ़ पूर्णिमा को लगभग 3000 ई. पूर्व हुआ था। में हुआ था।

उन्हीं की याद में हर साल गुरु पूर्णिमा मनाया जाता हैं, महर्षि वेदव्यास ने ही महाभारत जैसे पवित्र और महान ग्रंथ की रचना की थी. 

  • 26 जून –
  • बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय जयंती

महान उपन्यासकार बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय जी की जयंती हैं, बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय का जन्म जन्म 26 जून 1838 को कोलकाता में हुआ था।

बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय जी ने हमारें राष्ट्रीय गीत “वन्दे मातरम” की रचना की थी. 

  • 2 जून –
  • महाराणा प्रताप जयंती

मेवाड़ के महान राजपूत शासक महाराणा प्रताप जी की जयंती हैं, महाराणा प्रताप का जन्म साल 1540 में हुवा था.

मुग़ल शासन के दौरान महाराणा प्रताप जी की पराक्रम और त्याग को याद किया जाता हैं, वे मुगल आक्रमण के दौरान जंगलों में रहें लेकिन मुगलों की अधीनता कभी स्वीकार नहीं की.

महाराणा प्रताप जी की जयंती पर राजस्थान, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश समेत कुछ राज्यों में क्षेत्रीय सार्वजनिक अवकाश रहता है.

  • 31 मई –
  • देवी अहिल्याबाई होलकर जयंती

महान वीरांगना देवी अहिल्याबाई होलकर जयंती हैं, देवी अहिल्याबाई का जन्म 31 मई 1725 को महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले के छौंड़ी गांव में हुवा था.

वो इंदौर राज्य के राजा खंडेराव होल्कर की पत्नी थी, साल 1754 में राजा खंडेराव होल्कर की मृत्यु हो गई और उसके बाद राज्य की बागडोर देवी अहिल्याबाई ने ही संभाली थी, जिसमें उन्हें बहुत ही संघर्ष का सामना करना पड़ा था.

  • 28 मई –
  • वीर सावरकर जयंती

महान स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर जी का जन्म 28 मई 1883 को महाराष्ट्र के भागपुर में हुवा था.

वे महाराष्ट्र के प्रमुख राजनीतिज्ञ में से एक थे, जिन्होंने आजादी के लिए बहुत अहम् कम किए, वे एक हिंदूवादी नेता था.

  • 25 मई –
  • रास बिहारी बोस जयंती

महान स्वतंत्रता सेनानी रास बिहारी बोस जी का जन्म 25 मई 1886 बंगाल में हुवा था.

वहीँ महावीर जयंती जैन धर्म के लोगों के लिए बहुत ही खास हैं, यह जैन धर्म के लोगों के लिए त्यौहार का दिन हैं.

  • 26 फरवरी –
  • महर्षि दयानंद सरस्वती

आज 26 फरवरी को महर्षि दयानंद सरस्वती जयंती हैं, महर्षि दयानंद सरस्वती का जन्म 26 फ़रवरी 1824 को गुजरात में हुआ था.

महर्षि दयानंद सरस्वती ने आर्य समाज की स्थापना की थी, आधुनिक भारत के महान चिन्तक, समाज-सुधारक और स्वराज के प्रणेता थे।

15 फरवरी को हजरत अली जयंती हैं, हजरत अली का जन्मदिन शिया मुसलमानों के लिए त्यौहार की तरह हैं.

हजरत अली का जन्म इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार 13 रज्जब 24 हिजरी पूर्व मुसलमानों के तीर्थ स्थल काबा में हुआ था, आज काबा मुसलमानों का दूसरा सबसे पवित्र स्थान हैं.

हजरत अली शिया मुसलमानों के पहले इमाम थे, वहीँ वें पैगम्बर मुहम्मद साहब के दामाद और मुस्लिम समुदाय के चौथे खलीफा थे.

14 फरवरी को विश्वकर्मा जयंती, नित्यानंद प्रभु जयंती और गुरु हराय जयंती हैं.

भगवान विश्वकर्मा देवताओं के शिल्पिकार माने जाते हैं, इस दिन तमाम मैकेनिक काम करने वाले लोग भगवान विश्वकर्मा की पूजा करते हैं.

वहीँ नित्यानंद प्रभु एक महान कृष्ण भक्त थे, जिन्होंने कलयुग में अवतार लिया था.

28 जनवरी को लाला लाजपत राय जी की जयंती हैं, उसका जन्म 28 जनवरी 1865 में पंजाब में हुवा था, लाला लाजपत राय एक महान स्वतंत्रता सेनानी, राजनेता, लेखक और वकील थे.

सन 1928 में साइमन कमीशन का विरोध करते हुए लालाजी ने ‘अंग्रेजों वापस जाओ‘ का नारा दिया और कमीशन का डटकर विरोध किया, इसके जवाब में अंग्रेजों ने उन पर लाठीचार्ज किया, लेकिन लाला लाजपत राय ने अपने अंतिम साँस तक अंग्रेजों का विरोध किया.

  • 23 जनवरी –
  • नेताजी सुभाष चंद्र बोस जयंती

23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती हैं, उसने जन्मदिन पर ही पराक्रम दिवस मनाया जाता हैं, नेताजी सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 में कटक में हुवा था.

भारत को आजाद कराने के लिए उन्होंने बहुत बड़ा कदम उठाया था, उन्होंने साल 1942 में आजाद हिन्द फ़ौज का गठन किया था, जिसके लिए उन्हें हमेशा याद किया जाता हैं.

  • 12 जनवरी –
  • स्वामी विवेकानंद जयंती

स्वामी विवेकानंद जयंती हैं, स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी, 1863 में कलकत्ता में हुवा था, स्वामी विवेकानंद युवाओं के प्रेरणाश्रोत थे, इसीलिए उनके जन्मदिन पर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता हैं.

स्वामी विवेकानंद जी ने 1 मई 1897 को कोलकाता में रामकृष्ण मिशन और 1898 में बेलूर में रामकृष्ण मठ की स्थापना की, जो मानवता के लिए समर्पित हैं.

  • 9 जनवरी –
  • गुरु गोविन्द सिंह जयंती

सिख समुदाय में यह दिवस बहुत ही खास हैं, गुरु गोविन्द सिंह सिख समुदाय के दसवें और आखिरी गुरु थे.

सिख धर्म के लोग गुरु गोबिंद सिंह जयंती को बहुत धूम-धाम से मनाते हैं, इस दिवस को प्रकाश पर्व के नाम से भी जाना जाता हैं.

  • 30 दिसंबर –
  • कन्हैयालाल मुंशी जयंती

30 दिसंबर को कन्हैयालाल मुंशी जी जयंती हैं, कन्हैयालाल मुंशी जी का जन्म 30 दिसंबर 1887 में गुजरात में हुवा था,वे एक स्वतंत्रता सेनानी, लेखक और राजनेता थे.

  • 29 दिसंबर –
  • भगवान पार्श्वनाथ जयंती

 29 दिसंबर को जैन धर्म के महापुरुष भगवान पार्श्वनाथ जयंती हैं, पौष माह में कृष्णपक्ष में दशमी तिथि के दिन  777 ई. पूर्व वाराणसी में भगवान पार्श्वनाथ का जन्म हुवा था.

भगवान पार्श्वनाथ जैन धर्म के 23वें तीर्थकर थे, जैन धर्म में कुल 24 तीर्थकर हुए थे, पहले तीर्थकर ऋषभनाथ थे, वहीँ आखिरी तीर्थकर भगवान महावीर स्वामी थे.

पार्श्वनाथजी ने सिर्फ 30 साल की उम्र में सन्यास ले लिया था, उसके बाद पुरे 83 दिनों तक तपस्या करने के बाद उन्हें कैवल्य ज्ञान की प्राप्ति हुई.

25 दिसंबर को टल बिहारी बाजपेयी जयंती हैं, अटल बिहारी बाजपेयी भारत के पूर्व प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने भाजपा पार्टी को बनाने में अहम् भूमिका निभाई थी.

उनका जन्म 24 दिसम्बर 1924 को ग्वालियर में हुवा था, वे साल 1999 से साल 2003 तक भारत के प्रधानमंत्री रहें, भारत के राजनितिक जगत में उनका नाम बड़े सम्मान से लिया जाता हैं. 

  • 25 दिसंबर –
  • मदन मोहन मालवीय जयंती
  • जन्म – 25 दिसम्बर 1861

महामना मदन मोहन मालवीय जी की भी जयंती हैं, वे भारत के राजनीती में अपनी अलग ही छाप छोड़ी थी.

23  दिसंबर को चौधरी चरण सिंह जयंती हैं, चौधरी चरण सिंह भारत के पूर्व प्रधानमंत्री थे, उनका जन्म 23 दिसंबर 1902 में उत्तरप्रदेश में हुवा था, वे साल 1979 से 1980 तक भारत के प्रधानमंत्री थे.

  • 22 दिसंबर –
  • श्रीनिवास रामानुजन जयंती

22 दिसंबर को श्रीनिवास रामानुजन जयंती हैं, रामानुजन का जन्म 22 दिसम्बर 1887 में तमिलनाडु में हुवा था, रामानुजन विश्व के महान गणितज्ञ थे.

  • 18 दिसंबर –
  • गुरु घासीदास जयंती

18 दिसंबर को गुरु घासीदास जयंती हैं, गुरु घासीदास ने सतनामी समाज की स्थापना की थी, गुरु घासीदास का जन्म 18 दिसंबर 1756 में गिरौदपुरी में हुवा था.

  • 14 दिसंबर –
  • गीता जयंती

14 दिसंबर को गीता जयंती हैं, गीता जयंती अगहन ( मार्गशीर्ष) माह के शुक्ल पक्ष की मोक्षदा एकादशी की तिथि पर मनाया जाता है, गीता में पुरे जीवन का सार हैं, मोक्षदा एकादशी के ही दिन भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को गीता सार का उपदेश दिया था.

  • 9 दिसंबर –
  • चक्रवर्ती राजगोपालाचार्य

9 दिसंबर को चक्रवर्ती राजगोपालाचार्य जी की जयंती हैं, चक्रवर्ती राजगोपालाचार्य का जन्म 9 दिसंबर 1878 को मद्रास में हुवा था, वे एक स्वतंत्रता सेनानी थे.

  • 9 दिसंबर –
  • चक्रवर्ती राजगोपालाचार्य

आज 9 दिसंबर को चक्रवर्ती राजगोपालाचार्य जी की जयंती हैं, चक्रवर्ती राजगोपालाचार्य का जन्म 9 दिसंबर 1878 को मद्रास में हुवा था, वे एक स्वतंत्रता सेनानी थे.

  • 3 दिसंबर –
  • डॉ. राजेन्द्र प्रसाद जयंती

3 दिसंबर को डॉ. राजेन्द्र प्रसाद जयंती हैं, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद भारत के पहले राष्ट्रपति थे, उनका जन्म 3 दिसंबर 1884 को बिहार में हुवा था.

19 नवम्‍बर को गुरुनानक जयंती, गुरु नानक सिक्ख धर्म के महान गुरु थे, यह जयंती कार्तिक मास की पूर्णिमा को मनाया जाता हैं.

वहीँ आज 19 नवम्‍बर इंदिरा गाँधी जयंती भी हैं, इंदिरा गाँधी भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री थी, उनका जन्म 19 नवम्‍बर 1917 को हुवा था.

19 नवम्‍बर रानी लक्ष्मीबाई जयंती भी हैं, रानी लक्ष्मीबाई का जन्म 19 नवंबर 1835 में काशी में हुवा था, रानी लक्ष्मीबाई एक वीरांगना थी, जिसने अंग्रेजो को नाकों चने चबाए थे.

  • 13 नवम्‍बर – महाराजा रणजीत सिंह
  • जन्म – 13 नवम्‍बर 1780

आज 13 नवम्‍बर को महाराजा रणजीत सिंह की जयंती हैं, इनका जन्म 13 नवम्‍बर 1780 में हुवा था, महाराजा रणजीत सिंह सिख साम्राज्य के राजा थे, जिसे शेर-ए पंजाब के नाम से प्रसिद्ध हैं.

इसके जीते जी अंग्रेज इनके साम्राज्य के आस-पास भी नहीं आ पाए, उन्होंने पुरे पंजाब को एक सशक्त सूबे के रूप में एकजुट किया था.

15 अक्टूबर को महान वैज्ञानिक और भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ ऐ पी जे अब्दुल कलाम की जयंती है, डॉ ऐ पी जे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को रामेश्वरम में हुवा था.

  • 15 अक्टूबर – डॉ ऐ पी जे अब्दुल कलाम

डॉ ऐ पी जे अब्दुल कलाम को एक मिसाईल मैंन कहा जाता हैं, जिन्होंने भारत के लिए कई बड़े मिसाईल को बनाने में अहम भूमिका निभाई और भारत को रक्षा छेत्र में बहुत मजबूत मनाया.

उनके इस महान कार्य के लिए उन्हें साल 2002 से साल 2007 तक भारत के 11वें राष्ट्रपति बनाया गया, डॉ ऐ पी जे अब्दुल कलाम की मृत्यु 27 जुलाई 2015 को हुवा था.

जयप्रकाश नारायण जी की जयंती हैं, जयप्रकाश नारायण जी एक मसहूर भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और राजनेता थे. 

  • 11 अक्टूबर – जयप्रकाश नारायण

जयप्रकाश नारायण जी का जन्म 11 अक्टूबर 1902 को बिहार में हुवा था, वे इंदिरा गाँधी के विरुद्ध विपक्ष का नेतृत्व कर चुके हैं, साल 1998 में उन्हें मरणोपरान्त भारत रत्न से सम्मनित किया गया था.

शाई बाबा का जन्मदिन हैं, शाई बाबा का जन्म 28 सितंबर 1835 को महाराष्ट्र के पाथरी ग्राम में हुवा था, शाई बाबा एक सिद्ध पुरुष थे, जिन्हें भारत में भगवान का दर्जा प्राप्त हैं.

  • शाई बाबा जन्म – 28 सितंबर 1835

शाई बाबा का प्रसिध्द मंदिर शिरडी में हैं, शाई बाबा ने अपने जीवन का लम्बा समय शिरडी में ही बिताया था, आज शिरडी में लाखों श्रद्धालु जाते हैं, ऐसी मान्यता हैं की जो भी श्रद्धालु अपनी कामना लेकर शिरडी जाता हैं, उसकी कामना पूर्ण हो जाती हैं.

आज 11 सितंबर को पूर्व स्वतंत्रता सेनानी और समाजसेवी आचार्य विनोबा भावे की जयंती हैं, आचार्य विनोबा भावे का जन्म 11 सितंबर 1895 को हुवा था.

  • 11 सितंबर – आचार्य विनोबा भावे

वे विनोबा भावें को 1957 में शुरु किये गए भूदान आंदोलन के कारण जाना जाता हैं, विनोबा भावें को रेमन मेगसेसे पुरस्कार और भारत रत्न पुरष्कार मिल चूका हैं, विनोबा भावे को भारत का राष्ट्रीय आध्यापक भी कहा जाता हैं.

10 सितंबर को पूर्व स्वतंत्रता सेनानी और पूर्व राजनेता श्रीमान गोविंद वल्लभ पंत जी की जयंती हैं, गोविंद वल्लभ पंत जी का जन्म 10 सितंबर को उत्तराखंड में हुवा था.

  • 10 सितंबर – गोविंद वल्लभ पंत

वे एक गाँधीवादी स्वतंत्रता सेनानी थे, वे कांग्रेस पार्टी से साल 1950 से 1954 तक उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री और साल 1955 से 1961 तक भारत के गृहमंत्री रह चुके हैं.

5 सितंबर को डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जयंती हैं, महान शिक्षक सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5 सितंबर 1988 को हुवा था.

  • 5 सितंबर – डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जयंती

सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक महान दार्शनिक थे, साथ ही भारत के पहले उपराष्ट्रपती और दुसरे राष्ट्रपति भी थे, उनके जन्मदिन की याद में हर साल भारत में शिक्षक दिवस मनाया जाता हैं.

29 अगस्त को भारत के महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद जी की जयंती हैं, मेजर ध्यानचंद का जन्म 29 अगस्त 1905 को हुवा था. 

  • 29 अगस्त – मेजर ध्यानचंद

मेजर ध्यानचंद की याद में ही हर साल 29 अगस्त को भारत में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता हैं, मेजर ध्यानचंद को हॉकी खेल का जादुगर माना जाता था.

आज गोस्वामी तुलसीदास जी की जयंती हैं, हर साल 15 अगस्त को संत तुलसीदास जी का जन्मोत्सव मनाया जाता हैं, गोस्वामी तुलसीदास ने श्री रामचरितमानस की रचना की थी, तुलसीदास ने रामायण को हिंदी में लिखा था. 

  • 15 अगस्त – तुलसीदास जयंती
  • रचना   – श्री रामचरितमानस

गोस्वामी तुलसीदास भगवान हनुमान को अपना गुरु मानते थे, और तुलसीदास ने ही हनुमान चालीसा की रचना की थी, तुलसीदास के दोहें आज भी समाज में बहुत प्रचलित हैं.

तुलसीदास जी का जन्म विक्रम सवंत 1589 (सन 1532) में उत्तरप्रदेश के बाँदा जिले के राजापुर गाँव में हुवा था, वहीँ इनका निधन विक्रम सवंत 1680 (सन 1623) में हुवा था. 

  • जन्म – विक्रम सवंत 1589 (सन 1532)
  • निधन – विक्रम सवंत 1680 (सन 1623)
  • स्थान – उत्तरप्रदेश
  • जिला – बाँदा
  • गाँव  – राजापुर

27 जुलाई को भारत के महान वैज्ञानिक डॉक्टर ऐ पी जे अब्दुल कलाम की पुण्यतिथि हैं, डॉक्टर ऐ पी जे अब्दुल कलाम को भारत में मिसाइल मैंन के नाम से जाना जाता हैं. 

  • जन्म  – 15 अक्टूबर 1931
  • निधन – 27 जुलाई 2015

डॉक्टर ऐ पी जे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को हुवा था, वहीँ 27 जुलाई 2015 में उनका निधन हुवा, उन्हें उनकें महान काम के लिए भारत का सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न मिला था.

24 जून को संत कबीर दास जयंती मनाई जाती हैं, इस दिन कबीर दास के अनुयाई उसकी याद में विशेष कार्यक्रम का आयोजन करते हैं. 

  • 24 जून – संत कबीर दस जयंती

संत कबीर दास का जन्म 1398 में काशी में हुवा था, वहीँ उनका निधन 1518 में मगहर में हुवा था, संत कबीर दास ने अपने दोहों के माध्यम से समाज में जागरूकता फ़ैलाने का प्रयास किया था. 

Leave a Comment